News

अलाउद्दीन खिलजी के बारे में ये रोमांचित बातें जानने के बाद आप पद्मावती फिल्म देखने जरूर जाएंगे।

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती ने रिलीज होने से पहले ही बहुत ज्यादा सुर्खिया बटूर ली हैं बता दे की हाल ही में फिल्म ट्रेलर भी लंच करदिया गया हैं |ट्रेलर में दीपिका ,शाहिद और रणवीर की धमाकेदार एक्टिंग को लोग देखने के लिए बहुत ही उसत्सुक हैं |आप की जानकारी के लिए बता देखी ये फिल्म चित्तोर की रानी पद्मावती पर आधारित हैं और ये कहनी इतिहास से जुडी सबसे फेमस कहानियो में से एक हैं |लोगो को इस फिल्म का बहुत ही लमबे समय से इन्तजार था और उन लोए खुसखबरी हैं की फिल्म बहुत ही जल्द परदे पर उतार दि जाएगी |इस फिल्म में आपको अलाउद्दीन खिलजी के रोल में बॉलीवुड माचो मेन रणवीर सिंह नजर आएंगे,जिन्हे इस अंदाज़ में खूब पसंद किया जा रहा है।अब दर्शक जल्द से रिलीजिंग डेट का इंतजार कर रहे है,लेकिन आपको इससे पहले एक बात बताना चाहती हूँ,जिसके बाद आपको इस फिल्म को देखने की दिलचस्पी और बढ़ जाएगी।इस लेख के माध्यम से हम आपको अलाउद्दीन खिलजी के बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे है,जो इससे पहले आपने कभी नहीं सुनी होंगी।आइए जानते है इनके जिंदगी से जुडी कुछ रोमांचित बातें।

अपने ही चाचा और ससुर का क़त्ल कर के बने सुलतान

अलाउदीन खिलजी बहुत ही तेज दिमाग के इंसान थे उन्हें सिंघासन पर बठने की इतनी चाह थी की उन्होंने ेप्ने ही चाचा और ससुर जलालुदीन खिलजी का खून करवा दिया था और इन्होने सिहाहसन पर अपना राज संभाला और दिल्ली के राजा बने और 1296 से लेकर 1316 तक राज भी किया |आप की जानकारी के लिए बता देखी सिकंद को ‘सेकंड अलेक्जेंडर ‘ के नाम से जाना जाता तह और उन्हें “सिकंदर-ए -सनी” का भी खिताब दिया गया था |

काफी राज्या में बहुत ही शानदार शाशन चलाया अलाउदीन ने

जैसे की हम सभी जानते है अलाउदीन में बहुत सी खामिया थी लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने कई राज्यों पर अपना शासन बहुत ही अच्छे से चलाया,जैसे मेवाड़, गुजरात, रणथम्बोर, जालोर, मबर, वारंगल,रणथम्बोर,मदुरै और मालवा को जीतकर अपने राज्य का विस्तार किया। उन्होंने कई दफा मोगल को भी हराया था।

लड़ाई के पीछे की वजह रानी पद्मावती थी

अलाउदीन ने चित्तोर की रानी पद्मावती और उनके राज्य को पाने का फैसला कर लिया था तब अलाउदीन ने चित्तोर के राजा राणा रावल सिंह से दोस्ती बढ़ाई और फिर उन्होंने वहा के राज्य और रानी पद्मावती पर जित हासिल की थी |

महिलाओ के अलावा पुरुषो की और भी होते थे आकर्षित

अलाउदीन सिर्फ महिलाओ के प्रति ही नहीं बल्कि पुरुषो के प्रति भी आकर्षित थे,जिसका अंदाज़ा तब हुआ जब वह मलिक काफुर नाम के एक गुलाम से बाजार में मिले थे और वहां उन्हें उससे प्यार हो गया था,जिसके बाद दोनों को अक्सर कई जगह पर देखा जाता था।

अलाउदीन का दास बन ना महारानी को बिलकुल भी मंजूर नहीं था

महारनी पद्मावती और उनके साथ रह रही अन्य महिलाओ को अलाउदीन का का दास बनना बिलकुल मंजूर नहीं था,उन्हें नौकर बनने से अच्छा जौहर लगा,और उन्होंने खुद को त्याग कर दिया।जिसके बाद कई दिनों तक अलाउदीन को उन औरतो की चीखो ने चैन से जीने नहीं दिया।और वह कई रातो तक सोने की जगह इधर-उधर भटकते रहे।

source

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top